कोरोना महामारी की विकट परिस्थिति में समाज का संबल बना
भाऊराव देवरस सेवा न्यास

कोरोना संक्रमण के चलते लॉक डाउन के कारण दिल्ली के विभिन्न स्थानों में गरीब लोग भोजन इत्यादि की कमी के कारण जूझ रहे हैं | भाऊराव देवरस न्यास जो कि पहले से ही एम्स दिल्ली के निकट रोगियों के सहायकों के लिए विश्राम सदन चला रहा है और गरीब लोगों को मुफ्त भोजन विभिन्न अस्पतालों के निकट बाँटता है उसने इस कठिन समय में आगे आकर इन पीड़ितों को दो समय का भोजन और राशन किट देने की व्यवस्था दिल्ली और लखनऊ में लॉक डाउन के पहले दिन से ही  शुरू कर दी थी | वर्तमान में पूरी दिल्ली में विभिन्न स्थानों पर लगभग 9500 भोजन के पैकेट दिन में और 3000 पैकेट रात को वितरित किये जा रहे हैं I 11 अप्रैल 2020 तक 1,52,000 से अधिक पैकटों का वितरण इस माध्यम से किया जा चुका है I यह वितरण दिल्ली की विभिन्न कालोनियों में हो रहा है I अखिल भारतीय मारवाड़ी युवा मंच को भी प्रतिदिन 400 पैकेट वितरण के लिए दिए जा रहे हैं और 500 पैकेटों का वितरण दिल्ली पुलिस के माध्यम से भी हो रहा है  |

दिल्ली में नार्थ ईस्ट के राज्यों के लोगों की सहायता के लिए 1000 मैगी के पैकेट और बच्चों के लिए दूध के वितरण की व्यवस्था सेवा भारती के माध्यम से की जा चुकी है I सेवा भारती के ही  माध्यम से राशन किट का वितरण किया जा रहा है I इस किट में आटा, चावल, दालें, तेल, नमक, चीनी, चाय, मसाले, बिस्कुट, कॉर्नफ़्लेक्स, मुएस्ली इत्यादि जरुरत का सामान रहता है I ऐसे 3000 से भी अधिक राशन के किट बांटने के लिए सेवा भारती को राशि दी जा चुकी है व इसे और बढाने का प्रयास चल रहा है I ओ एन जी सी जैसे संस्थान भी अपने सी एस आर फण्ड के अंतर्गत आर्थिक सहायता द्वारा न्यास को संबल प्रदान कर रहे हैं |

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि कोरोना के योद्धा अर्थात् स्वास्थ्यकर्मी, चिकित्सक, पुलिस के सभी कर्मी, सभी सफाईकर्मी और अन्य जरुरी सेवाओं में लगे लोग हम लोगों को सुरक्षित रखने के लिए अपनी जान की परवाह न करते हुए अनवरत अपने अपने मोर्चे पर डटें हैं | हम अपने घरों में सुरक्षित हैं तो इन के योगदान के ही कारण | इन लोगों की सेवा सेना के कार्यों से किसी प्रकार भी कम नहीं है | हम सभी घर पर बैठे हुए उनके लिए केवल प्रार्थना ही कर सकते हैं कि भगवान् उन्हें और उनके परिवार को इस कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाकर रखे | यदि हम उनकी कुछ सहायता कर सकते हैं तो वह है कि उनकी सुरक्षा के जो उपकरण आवश्यक हैं वे उन्हें उपलब्ध करवा कर दें ताकि उनकी स्वयं की सुरक्षा सुनिश्चित हो सके | न्यास ने यह काम अपने हाथ में लिया है | अभी हमने 150 PPE किट खरीद ली हैं जिनमे से हमने 25 किट नन्द नगरी में स्थित एवं The Leprosy Mission Trust India द्वारा संचालित TLM कम्युनिटी अस्पताल को उनकी आवश्यकता को देखते हुए दी हैं, राजस्थान मित्र मंडल के सहयोग से 25 किट एम्स अस्पताल के टी बी वार्ड के नर्सिंग स्टाफ को अचानक वहां कोरोना के मरीज मिलने पर उनकी सुरक्षा के लिए दी गयीं और दिल्ली में निजामुद्दीन इलाके में मरकज़ में कोरोना संक्रमण के संकट से मुकाबला करने के लिए दिल्ली पुलिस को भी उनके एक ACP  रैंक के ऑफिसर के माध्यम से 10 किट दी गयी हैं | इन किटों की आवश्यकता इससे कहीं अधिक है जिसकी पूर्ति के लिए हमें समाज के बंधुओं का सहयोग चाहिए | अतः आप सभी से अनुरोध है कि अपने सामर्थ्य के अनुसार इसमें योगदान करें और अपने अन्य संगी साथियों को भी इसके लिए प्रेरित करें | इस एक किट की कीमत 850 से 1000 के बीच आ रही है | आप ये किट सप्लायर से खरीद कर भी हमें भिजवा सकते हैं |

दिल्ली में अपने न्यास द्वारा संचालित एम्स पॉवर ग्रिड विश्राम सदन को आजकल एम्स ट्रामा सेंटर में कोरोना के मरीजों के इलाज में लगे हमारे जांबाज चिकित्सकों के ठहरने के लिए तैयार किया गया है | इन चिकित्सकों की सेवा करने में न्यास को गर्व महसूस होता है | इनके रहने और खाने पीने की व्यवस्था न्यास द्वारा की जा रही है |

लखनऊ में भी सड़क किनारे रहने वाले ऐसे बन्धु जिनका बी पी एल कार्ड नहीं बना है उन्हें 1100 से अधिक राशन के पैकेट दिए जा चुके हैं I साथ ही 500 से अधिक लोगों के लिए प्रतिदिन भोजन की व्यवस्था की जा रही है I

लखनऊ में माधव सभागार में सरकार की योजना से न्यास द्वारा 48 बिस्तरों वाले आइसोलेशन वार्ड का विधिवत उद्घाटन हो गया है और मरीजों का आवंटन भी हो गया है I वहीं पर दो रसोइयां भी तैयार की गयी हैं जो प्रशासन की त्वरित आवश्यकताओं के अनुसार तुरंत भोजन के पैकेट उपलब्ध करवा रही हैं I लखनऊ के ही न्यास द्वारा संचालित माधव सेवा आश्रम में पी जी आई ट्रामा सेंटर के चिकित्सकों के लिए 40 बिस्तरों वाले केंद्र की स्थापना की गई है I